Author: Kanchan Kritika

0

खोता बचपन | कविता

मैने देखा खोता बचपन सड़कों व गलियारों में नन्हे-नन्हे हाथों से चुनते कूड़ा चौबारों में जंग जीतनी है जिनको बढ़ते...

0

मजदूर |  कविता

मैं मजदूर हूँ । किस्मत से मजबूर हूँ । सपनों के आसमान में जीता हूँ, उम्मीदों के आँगन को सींचता...

0

अम्बेडकर जयंती | कविता

संघर्ष और सफलता की अद्भुत मिसाल, आधुनिक भारत के निर्माता, भारतीय विधिवेत्ता, अर्थशास्त्री, राजनीतिज्ञ और समाजसुधारक आदरणीय डॉo- भीमराव अम्बेडकर...

0

आओ मतदान करें | कविता

परिवर्तन की नींव रखे जो, सही गलत का बोध हो जिसको । जो सामाजिक सौहार्द बढ़ाये, देश को प्रगति की...